Friday, 20 March 2020

क्या है कोरोना वायरस | Coronavirus COVID-19 | Coronavirus in india | Coronavirus fact, Symptoms, Causes, Prevention


क्या है कोरोना वायरस (CORONAVIRUS) क्या हैं इस बीमारी के लक्षण? क्या हैं इससे बचाव के उपाय?



कोरोना वायरस का खौफ पूरी दुनिया में फैला चुका है। चीन से इस घातक संक्रमण की शुरुआत हुई थी, लेकिन अब भारत समेत अमेरिका, थाईलैंड, वियतनाम, मलेशिया जैसे 18 देशों में मरीज सामने आ चुके हैं। खास बात यह रही कि यह संक्रमण वैज्ञानिकों के लिए बिल्कुल नया था। यानी इसका कोई इलाज नहीं है और लक्षण बहुत सामान्य हैं। अब तक इसकी वैक्सीन इजाद नहीं की जा सकी है। 

Coronavirus एक संक्रामक बीमारी है। यानी यह इंसान से इंसान में फैलने वाला वायरस है। पिछले साल चीन के वुहान शहर में इसका पहला मामला सामने आया था। यहां के एक मछली बाजार में कुछ लोगों को सर्दी जुकाम और बुखार के बाद जांच में वैज्ञानिकों को यह अज्ञात वायरस मिला था। बाद में इसे कोराना नाम दिया गया। जांच में पता चला कि चीन में लोग चमगादड़ भी खाते हैं और उसी से यह बीमारी इन्सानों में फैली।


coronavorus who

कोरोना वायरस कोई एक वायरस नहीं है. ये वायरस की एक फैमिली का नाम है. ऐसे वायरस जिनका बाहरी हिस्सा एक जैसा दिखता है. इस वायरस के चारों तरफ प्रोटीन की स्पाइक्स होती हैं. इलेक्ट्रॉन माइक्रोस्कोप से देखने पर ये स्पाइक्स बादशाह के ताज मतलब, क्राउन जैसी दिखती हैं.

ताज को अंग्रेज़ी में बोलते हैं क्राउन. क्राउन से आया कोरोना. और क्राउन जैसी बनावट से घिरे वायरस कहलाते हैं कोरोना वायरस. सूरज के चारों तरफ प्लाज़्मा निकलने से जो आकृति बनती है, उसे भी कोरोना ही कहते हैं.
WHO ने इस बीमारी को Covid-19 नाम दिया है. Covid मतलब कोरोना वायरस डिसीज़. 19 इसलिए कि इसका पहला केस 2019 में चीन के वुहान शहर स्थित सीफूड मार्केट से सामने आया.

क्या कोरोना वायरस से निपटने के लिए कोई वैक्सीन है?
अब तक ना तो कोई वैक्सीन है और ना बन सकी है जो इस जानलेवा कोरोना वायरस से सुरक्षा प्रदान कर सके। स्टडीज चल रही हैं और अनुसंधानकर्ता इस बारे में रिसर्च कर रहे हैं, दवा निर्माता कंपनियां भी इस बीमारी का इलाज खोजने और इससे बचाव के लिए वैक्सीन बनाने में जुटी हैं। WHO भी कोरोना को लेकर पूरी तरह से सतर्क है और इसका इलाज खोजने की हर संभव कोशिश कर रहा है। फिलहाल इससे बचने का सबसे अच्छा तरीका है ऐहतियात बरतना।

1.क्या मास्क पहनने से इंफेक्शन को फैलने से रोका जा सकता है?
कोरोना वायरस इतना ज्यादा और इतनी तेजी से फैल रहा है कि हर कोई इससे बचने का तरीका खोजने में लगा है अधिकांस लोग सर्जिकल मास्क पहनकर सड़कों पर घूम रहे है। सर्जिकल मास्क पहनने से सिर्फ इंफेक्शन का रिस्क कम होगा इससे बचाव नहीं। प्रिवेंशन का सबसे अच्छा तरीका यही है कि आप अगर उन शहरों में ट्रैवल कर रहे हैं जहां कोरोना वायरस का रिस्क ज्यादा है तो संक्रमित लोगों से दूर ही रहें।
2.किन लोगों को ये बीमारी होने का रिस्क सबसे ज्यादा है?
वैज्ञानिक अब भी इस बात की खोज करने में लगे हैं कि आखिर ये कोरोना वायरस लोगों में फैल कैसे रहा है। बुजुर्गों में मौत के आंकड़े ज्यादा देखने को मिल रहे हैं। इसके अलावा वैसे लोग जिन्हें पहले से किसी तरह की कोई बीमारी है या फिर वैसे लोग जो लंबे समय से बीमार हैं उनमें भी इस बीमारी या इंफेक्शन होने का खतरा अधिक है।

कोरोना वायरस से बचने का उपाय -
•दिन में कई बार साबुन से हाथ धुलें.
•हाथों से आंख, नाक और मुंह को बार-बार न छुएं.
•शरीर की इम्युनिटी को बरकरार करने वाली चीजों का सेवन करें.
•खांसते और छींकते समय अपने मुंह और नाक को अच्छी तरह से ढक कर रखें.
•खांसी, बुखार और जुकाम के लक्षण होते ही डॉक्टर के पास जाएं.
•सांस की तकलीफ से ग्रसित मरीज के पास जाने से बचें.
•किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने के फौरन बाद, पालतू या जंगली जानवरों से दूर रहें.
•कच्चा या अधपका मांस न खाएं.
•नियमित रूप से साफ-सफाई का ध्यान दें. इसके साथ ही स्वास्थ्यकर्मी मास्क और दस्ताने को इस्तेमाल में लाएं.
•खांसी बुखार के वक्त यात्रा से परहेज करें.

Coronavirus COVID-19 | Coronavirus in india | Coronavirus fact, Symptoms, Causes, Prevention


No comments:

Post a Comment